दिल्ली में 9 साल की दलित मासूम से रेप, हत्या कर जलाया शव

0
160
9 Year old Dalit girl raped and burnt in Delhi

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली का दामन एक बार फिर से दागदार है. राजधानी में फिर से दरिंगदी हुई है. 1 अगस्त को नौ साल की बच्ची के साथ घिनौना अपराध हुआ. अपराध ऐसा है कि दिल्ली के दामन को फिर से दागदार कर दिया है. मासूम के साथ रेप के बाद बच्ची को मार डाला गया. जब बच्ची मर गई तो सियासत के सुरमा सवेंदना का सिंढ़ी लगाकर चढ़ गए उसी मुद्दे पर. दिल्ली में 9 साल की दलित मासूम से रेप, हत्या कर जलाया शव, आखिर..कब तक बेटियां होंगी दरिंदगी की शिकार?

Minor Rape

दिल्ली कैंट इलाके में 9 साल की नाबालिग लड़की के साथ कथित बलात्कार हुआ और बलात्कार के बाद जलाकर उसे मार भी दिया गया. इस घटना ने मानों एक बार फिर से इंसानियत को शर्मशार कर दी है. जिस उम्र में बच्चो गली-मुहल्लों में खेला करते हैं, उस उम्र में इस प्यारी सी बच्ची के साथ इतनी भयानक दरिंदगी हुई. सोशल मीडिया पर लगातार लोग गरीब मां-बाप की बच्ची के लिए न्याय की मांग कर रहे हैं.

दिल्ली में 9 साल की दलित मासूम से रेप, हत्या कर जलाया शव, आखिर..कब तक बेटियां होंगी दरिंदगी की शिकार? Click To Tweet

जानकारी के मुताबिक, 1 अगस्त को श्मशान घाट के अंदर पानी लेने गयी 9 साल की बच्ची के साथ पुजारी और उसके साथियों ने क​थित रूप से बलात्कार किया और घटना का खुलासा होने के डर से जलाकर मार भी डाला. इतना ही नहीं, बच्ची के मां-बाप की मर्जी के बिना उसका अंतिम संस्कार भी कर दिया गया.

…तो निर्भया कांड के बाद क्या बदला ?

भारत में हर दिन बच्चियों और महिलाओं के साथ छेड़छाड़-रेप की घटनाएं आम बात हो गई है. आखिर क्यों इस तरह के घटनाएं हर रोज सामने आती रहती हैं. क्या इसकी ज़िम्मेदारी सरकार की नहीं है? क्या सरकार इस वरदात को रोक पाने में नाकाम हो रही है? क्या देश की बेटियों की ज़िम्मेदारी सरकार की नहीं है? अगर है तो इस घिनौने अपराध पर लगाम कब लगेगी. कब सुरक्षित होंगी हमारी बेटियां. हर पार्टी की सरकारें आती हैं और जाती भी हैं. लेकिन, रेप-बलत्कार जैसी समस्याएं जस की तस बनी है.

Rahul Gandhi Meeting the 9 year old rape victim's family in Delhi, August 2021
Rahul Gandhi Meeting the 9 year old rape victim’s family in Delhi, August 2021

दरअसल, 2012 में निर्भया कांड हुआ था. जिसके लिए न्याय की गुहार लगाते-लगाते उस पीड़ित परिवर के पैर के तलवे घिस गए. तो क्या बदला हमारे देश में बच्चियों से रेप होना बंद हुआ? नहीं! रेप के बाद हत्याऐं बंद हुई, नहीं हुई. रेप और हत्या पर सियासत बंद हुई, नहीं हुई. रेप के बाद पीड़ित के घर पर सियासी दलों का जुटना और राजनीति करना बंद हुआ, नहीं हुआ. तो क्या बदला फिर?

खतरे में बेटियों की जान, कब सुधरेगी हालात?

जो सरकार के इन झूठे दावों पर तमाचे की तरह है. हाल ही में एक ऐसी ही वारदात गोवा से सामने आई. गोवा में दो नाबालिग लड़कियों के साथ कथित सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया तो लोग सन रह गए. तो वहीं, गोवा के मुख्यमंत्री ने इस घिनौने अपराध पर माता पिता को ही ज़िम्मेदार ठहरा दिया.

तो वहीं कुछ ही महीने पहले की बात है. जब हाथरस कांड की पीड़िता 14 सितंबर को अपने गांव के ही खेत में गंभीर हालत में मिली थी. बाद में उसे अलीगढ़ के अस्पताल और उसके बाद दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. लेकिन, नाबालिग अपने ज़िदगी की जंग हार गई. कई ऐसी घटनाएं अब सवाल ये है कि कब ऐसी अपराध पर लगाम लगेगी.

9 साल की लड़की के साथ दरिंदगी, श्मशान घाट की वरदात

दिल्ली में 9 साल की दलित मासूम से रेप, हत्या कर जलाया शव. लगभग 200 गांव वाले श्मशान घाट पर एकजुट होकर धरना देना पड़ा. बलात्कार और हत्या का मामला दर्ज करने के लिए धरना और भगदर जैसे हालात बनने लगे थे. लड़की की उम्र 9 साल की थी और वह अपनी मां को बताकर श्मशान घाट के वाटर कूलर से ठंडा पानी लेने के लिए गई थी. इस कथित वारदात का अंजाम देने वाला श्मशान घाट का पुजारी समेत कुछ और लोग शामिल है.

शाम के 6 बज रहे थे, जब लड़की की मां को बुलाकर उसका शव दिखाया और कहा कि वाटर कूलर से करंट लगने की वजह से उसकी मौत हो गई है. जब मां ने अपने बच्ची को इस हालात में देखा तो उसके पैरों तले ज़मीन खिसक गई.  पूजारी लड़की को करंट लगने का लगातार हवाला देता रहा हालांकि, बाई कलाई पर जलने के निशान थे. इसके साथ ही उसके होंठ भी नीले पड़ गए थे.

Dalit Leader Chandrashekhar Azad demanding justice for the rape victim in Delhi, August 2021
Dalit Leader Chandrashekhar Azad demanding justice for the rape victim in Delhi, August 2021

पुलिस के मुताबिक, भारतीय दंड संहिता की धारा 302, 376 और 506 के साथ-साथ यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण यानी पोक्सो अधिनियम और एससी / एसटी अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. लेकिन, अभी न्याय के लिए परिवार गुहार लगा रहा है. बच्ची की याद में लगातार राजधानी में कैंडल जलाकर लोग सड़क पर उतर रहे हैं, और सब न्याय के लिए गुहार लगा रहे हैं.

दिल्ली में 9 साल की दलित मासूम से रेप, हत्या कर जलाया शव, आखिर..कब तक बेटियां होंगी दरिंदगी की शिकार? Click To Tweet

Author: Team The Rising India

Keywords: Nirbhaya Kand, 9 Year Dalit raped and burnt in Delhi, Rape in Delhi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here